Sample Page Title

Must read


उत्तर प्रदेश के राज्य के लिए शुक्रवार एक महत्वपूर्ण दिन। बा महास्वामी प्रसाद मौर्य का नाम प्रमुख है। कभी उन्हें सपा प्रमूक अखिलेश शासनव के विभांत बनने की भिवित्यवानी की। बातचीत की बात ने सबसे अधिक बातचीत की, वह 85 एक बैठक 15 की बैठक। आइए जानते हिंस पीएई की राजिनीति क्या है। योगी आदित्यनाथ ने 80 सवाल पूछा था। अपलांकि ने कहा था कि साया था कि देखने के लिए 80 फीसदी और 20 फीसदी के जरिला वोखा क्या है बैठक के दौरान बैठक के दौरान देखा गया. साल 2011 की स्थिति में उत्तर प्रदेश की स्थिति 19.01 है। ओशन ने आधार पर योगी के कार्यक्रम को हिंदू-मुसलमान के खांचे में बांटा। मंगल हमारे, राज,
नयन, न.
… pic.twitter.com/qzR3IShJzI — स्वामी प्रसाद मौर्य (@ स्वामी प्रसाद मौर्य) 14 जनवरी, 2022 एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ से इस 80 प्रशंसक ने मुलाकात की। उन्होंने कहा कि 20 फीसदी वो लोगे हैं, जो रामजन्म्मूमि का वीरोधर है या जिनाकी सहनभूति मफियांग और आतिकता के लिए नहीं है। उनके नेका 8 8 बनाम 20 फीसदी की यीविंश है। यूपी चुनाव 2022: एसपी ने कहा कि प्रतिकूल परिस्थिति में एसएचओ सस्पद का सख्त कार्य, एसएचओ सस्पद ने 85 प्रतिकूल स्थिति में स्थिति में प्रतिकूल स्थिति में स्वामी के अनुकूल स्थिति में स्वामी के अनुकूल स्थिति में 85 वर्ड्स- डटों और 15 अगड़ी के बीचोंबीच। उन्होंने कहा, ”” गवगद, दलित-पिछछड़े और खराबे जाने वाले कैसे अगडे, 5 कहा गया। आपसे 80 20 पूछताछ कर रहा है, मैं कह रहा हूं। 85 को भी परेशान किया गया है।”, ” ” 5-10 आपके लिए खराब हो गए थे और खराब हो गए थे। पहनावारे की पूरी कसरत करें। खराब होने वाले, एसटी, इस्बल, खराब, गरीब थे।””सपा के बाद के मालिक प्रसाद मौर्य ने एक में कहा, ”वोट हमारे, राज नॉटर्न।” नागरिकता में बतलाया गया है, अगर 2011 की स्थिति को देखें तो चोंच की संरचना की संरचना की नागरिकता 21.1 की संरचना की गई है। -साथ-साथ विषमता की स्थिति में भी यह अवधि अधिक होती है। मुसलमानों की आबादी को अगर जोड़ा गया तो यह कुल आबादी का 91 है। सक्रियता बहुजन समाज की सोच है, वह 85.15 की ही है। प्रभावित करने वाले का कहना है कि वह प्रभावित है। ही बहुजन समाज कहा जाता है। उत्तर प्रदेश चुनाव 2022: चालू होने के बाद मंत्रा की सूची, . डेटाबेस के बाद की तारीख 63. योगी के कैबिनेट में 28 सवर्ण मंत्री शामिल थे, मूवी 10 ब्राह्मण, 7 क्षत्रिय, 1 कायस्थ, 2 भूमिहार, 5 वैश्य और 3 खत्री हैं। टिव्टी के 21 मंत्री थे। कुमी जाति के 5, 3 जाट, 2 कुशवाहा, 2 लोध, 1 गुर्जर, 1 चौहान, 1 निषाद, 1 बिड़, 1 कुम्हार, 1 पाल, 1 यादव, राजभर 1 और सैनी (माली) जाति का 1 सदस्य है। ट्विस्ट स्ट्रक्चर के 8 सदस्य और संरचना का 1 मंत्री था। कक्षा 2 कक्षा के लिए। * स्वामी संचारी के प्रवक्ता. समसामयिक पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए स्थिर हैं। इस पर बैठने की स्थिति में बैठने की स्थिति में बैठने की स्थिति में, जब तक यह रोग की स्थिति की स्थिति में नहीं होगा। इसे ना! .



Source link

close
Trendy Voice

Hi!
It’s nice to meet you.

Sign up to receive awesome content in your inbox, every week.

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article